Saturday, June 22, 2024
More
    होमराज्योंदिल्लीअमित शाह की अध्यक्षता वाला पैनल करेगा फैसला, कौन थामेगा एयर इंडिया...

    अमित शाह की अध्यक्षता वाला पैनल करेगा फैसला, कौन थामेगा एयर इंडिया की कमान

    घाटे में चल रही सरकारी एयरलाइन कंपनी एयर इंडिया की कमान इसी सप्‍ताह उसके नए मालिक को दी जानी तय है।  केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की अध्यक्षता वाले पैनल में नए मालिक का का चुनाव किया जाएगा। संभव है कि एक सप्‍ताह पश्‍चात एयर इंडिया की घर वापसी हो और सरकार इसकी  बागडोर टाटा समूह को सौंप दे।

    एयर इंडिया की बोली में टाटा समूह सबसे आगे है। और टाटा समूह के अलावा स्पाइसजेट के प्रमोटर अजय सिंह भी इस रेस में हैं। लेकिन अंतिम फैसला एक सप्‍ताह के पश्‍चात ही लिया जाना तय है।

    इस बीच वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल का कहना है कि सरकार ने अभी तक एयर इंडिया से संबंधित किसी प्रकार की कोई निर्णय नहीं लिया है। एयर इंडिया के संचालन की दायित्‍व किसी और को सौंपने के लिए जो भी नियम-कानून हैं, उसके अनुसार ही इस प्रक्रिया को आगे बढ़ाया जाएगा।

    अगर टाटा समूह के साथ सरकार की अनुबंध हो जाती है, तो एयरलाइन के पास 68 साल बाद ‘घर वापसी’ होगी। सर्वप्रथम टाटा समूह ने ही अक्टूबर 1932 में टाटा एयरलाइंस के नाम से एयर इंडिया की शुरुआत की थी। वर्ष 1947 में देश की स्‍वतंत्रता के पश्‍चात एक राष्ट्रीय एयरलाइन होने की आवश्यकता थी। ऐसे में भारत सरकार ने एयर इंडिया में 49 फीसदी हिस्सेदारी का अधिग्रहण कर लिया।

    इसके बाद 1953 में भारत सरकार ने एयर कॉर्पोरेशन एक्ट पास किया और फिर टाटा समूह से कंपनी के हिस्सेदारी में बहुमत खरीद ली। एक रिपोर्ट के मुताबिक टाटा समूह की बोली सरकार द्वारा तय रिजर्व प्राइस से करीब 3,000 करोड़ रुपए ज्यादा है। टाटा की बोली स्पाइसजेट के चेयरमैन अजय सिंह द्वारा लगाई गई बोली से करीब 5,000 करोड़ रुपये अधिक है।

    संबंधित आलेख

    कोई जवाब दें

    कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
    कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

    सबसे लोकप्रिय